शक्ति परीक्षण से पहले फड़नवीस और अजीत का इस्तीफा, उद्धव ठाकरे होंगे महाराष्ट्र के नए सीएम
November 27, 2019 • बाराबंकी टाइम्स

थमा अनिश्चितताओं का दौर, राकांपा के जयंत पाटिल और कांग्रेस के बालासाहब थोरात होंगे उप मुख्यमंत्री  मुंबई

अपनी दूसरी पारी में महज 80 घंटे कुर्सी पर रहने के बाद महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस ने मंगलवार को अपने पद से इस्तीफा दे दिया। उनसे पहले खेमा बदलकर भाजपा के साथ आए अजीत पवार ने उपमुख्यमंत्री के पद से निजी कारणों से इस्तीफा दे दिया। इसके बाद राज्य में नई सरकार के गठन का रास्ता साफ हो गया है। शिवसेना के उद्धव ठाकरे अब राज्य के नए मुख्यमंत्री होंगे।

फड़नवीस को मंगलवार दोपहर बाद तब अपने पद से इस्तीफा देना पड़ा, जब अजीत पवार ने भाजपा कोर कमेटी की बैठक में पहुंचकर सूचना दी की उनके पास भाजपा को समर्थन देने लायक पर्याप्त विधायक नहीं हैं। इसके बाद ही राज्य में पिछले एक माह से चल रहे अनिश्चितताओं के दौर का पटाक्षेप हो गया। इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि बुधवार शाम को बहुमत परीक्षण कराया जाए।

फड़नवीस के इस्तीफे के 3.30 घंटे बाद ही शाम को बांद्रा-कुर्ला कॉम्प्लेक्स स्थित होटल ट्राइडेंट में शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस के विधायकों की संयुक्त बैठक हुई। नई सरकार में उपमुख्यमंत्री बनने जा रहे राकांपा विधायक दल के नवनिर्वाचित नेता जयंत पाटिल ने उद्धव ठाकरे को मुख्यमंत्री बनाए जाने का प्रस्ताव रखा। कांग्रेस विधायक दल के नेता बालासाहब थोरात ने उनके प्रस्ताव का अनुमोदन किया। नई सरकार में बालासाहब थोरात भी उपमुख्यमंत्री पद की भूमिका निभाएंगे। ठाकरे परिवार से पहली बार मुख्यमंत्री बनने जा रहे उद्धव ठाकरे अपने पिताबालासाहब ठाकरे के स्मृतिस्थल शिवतीर्थ यानी शिवाजी पार्क में 28 नवंबर को शपथ ग्रहण करेंगे। संबंधित सामग्री 15

मंगलवार को यूं बदलता रहा घटनाक्रम

10:39 बजे : सुप्रीम कोर्ट ने मुख्यमंत्री देवेंद्र फड़नवीस को बुधवार शाम तक बहुमत साबित करने को कहा।

10:42 बजे : सुप्रीम कोर्ट ने राज्यपाल कोश्यारी को सुनिश्चित करने को कहा कि सभी विधायकों का शपथग्रहण बुधवार को ही हो।

11:00 बजे : कांग्रेस नेता पृथ्वीराज चह्वाण ने गठबंधन की ओर से सुप्रीम कोर्ट के फैसले का स्वागत किया।

12:07 बजे : शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे ने मुख्यमंत्री फड़नवीस से त्यागपत्र देने की मांग की।

3:01 बजे : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भाजपा अध्यक्ष अमित शाह और कार्यकारी अध्यक्ष जेपी नड्डा के साथ बैठक की।

3:20 बजे : शिवसेना सांसद संजय राउत ने बताया कि उप मुख्यमंत्री अजीत पवार ने पद से इस्तीफा दे दिया है।

3:44 बजे : मुख्यमंत्री फड़नवीस ने मीडिया से बात करते हुए अपने त्यागपत्र का एलान किया।

घंटे ही मुख्यमंत्री रह पाए देवेंद्र फड़नवीस अपनी दूसरी पारी में

मुंबई में मंगलवार को कांग्रेस, राकांपा और शिवसेना की संयुक्त बैठक में महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री पद के लिए अपने नाम पर मुहर के बाद अभिवादन करते शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे। इस मौके पर राकांपा प्रमुख शरद पवार भी मौजूद रहे ' प्रेट्र

शिवसेना का हंिदूुत्व सोनिया गांधी के चरणों में: फड़नवीस

अजीत पवार के इस्तीफे के बाद फड़नवीस ने विधानसभा में बहुमत परीक्षण के एक दिन पहले ही हार मान ली। फड़नवीस ने कहा, 'भाजपा ने नतीजे आने के बाद पहले दिन से ही तय कर लिया था कि वह बहुमत साबित करने के लिए विधायकों की खरीद-फरोख्त नहीं करेगी। शिवसेना ने मुख्यमंत्री पाने में विफल रहने पर हताश होकर भाजपा को सत्ता से दूर रखने के लिए अपना 'हंिदूुत्व' कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के चरणों में समर्पित कर दिया है। अजीत पवार ने हमारा सहयोग करने का फैसला किया था। आज उन्होंने मुलाकात कर कहा कि वह कुछ कारणों से हमारे गठबंधन में नहीं रह सकेंगे और इस्तीफा दे रहे हैं। चूंकि उन्होंने इस्तीफा दे दिया, इसलिए हमारे पास अब बहुमत नहीं रहा।'

शपथ की तैयारी पूरी, ठाकरे परिवार से पहले मुख्यमंत्री होंगे उद्धव

फड़नवीस सरकार-2 के पतन के बाद अब महाराष्ट्र में पहली बार शिवसेना के संस्थापक बाल ठाकरे के परिवार को सीएम पद मिलना तय है। मौजूदा पार्टी प्रमुख उद्धव ठाकरे को नए सीएम पद की शपथ की तैयारी हो चुकी है। उनके पिता बाल ठाकरे ने 1995 से 1999 तक शिवसेना-भाजपा की पहली सरकार का रिमोट अपने हाथ में रखा था, लेकिन उन्होंने कोई पद ग्रहण नहीं किया था।

सुप्रीम कोर्ट का फैसला आने के बाद पलटी बाजी

' >>सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि मुख्यमंत्री के पास बहुमत है कि नहीं यह पता लगाने के लिए जल्दी से जल्दी बहुमत परीक्षण कराना जरूरी है।

अदालत ने बहुमत परीक्षण की प्रक्रिया तय करते हुए कहा कि तत्काल प्रोटेम स्पीकर नियुक्त किया जाए।

सभी निवार्चित सदस्यों को शपथ दिलाने का काम बुधवार की शाम पांच बजे तक पूरा कर लिया जाए।

 >>उसके तुरंत बाद प्रोटेम स्पीकर बहुमत परीक्षण कराएंगे। बहुमत परीक्षण गुप्त मतदान से नहीं होगा और इसका सीधा प्रसारण होगा।

भाजपा के कालीदास कोलंबकर प्रोटेम स्पीकर नियुक्त किए गए

महाराष्ट्र के राज्यपाल भगत सिंह कोश्यारी ने बुधवार सुबह 8 बजे से विधानसभा का विशेषष सत्र बुलाया है। इसके संचालन के लिए उन्होंने भाजपा विधायक कालीदास कोलंबकर को प्रोटेम स्पीकर नियुक्त कर उन्हें शपथ दिलाई गई। वह आठ बार के विधायक हैं। इस पद के लिए सुझाए गए नामों में उनका भी नाम था।

'>>फड़नवीस के इस्तीफे के बाद ही शाम को शिवसेना, राकांपा और कांग्रेस के विधायकों की हुई संयुक्त बैठक

 

'>>शिवतीर्थ यानी शिवाजी पार्क में गुरुवार को शाम 5:30 बजे शपथ ग्रहण करेंगे उद्धव ठाकरे