राम मंदिर के लिए 33 एकड़ जमीन और चाहिए
November 18, 2019 • बाराबंकी टाइम्स

अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण अगले साल अप्रैल में शुरू होगा और वर्ष 2022 तक मंदिर बनकर तैयार हो जाएगा। हालांकि प्रस्तावित डिजाइन के लिए अभी और 33 एकड़ जमीन की दरकार है।

सूत्रों के अनुसार भव्य राम मंदिर के निर्माण के लिए फिलहाल 67 एकड़ भूमि उपलब्ध है। लेकिन इस काम के लिए कुल 100 एकड़ जमीन की जरूरत होगी। लिहाजा और 33 एकड़ भूमि के अधिग्रहण की आवश्यकता होगी। सूत्र का कहना है कि जहां तक मस्जिद के लिए पांच एकड़ जमीन का सवाल है, उसके लिए जमीन इस मंदिर परिसर में देना संभव नहीं है। मुस्लिम पक्ष को पांच एकड़ जमीन राज्य सरकार कहीं और देगी। मस्जिद के लिए जमीन देने की प्रक्रिया में केंद्र सरकार का कोई दखल नहीं होगा।

केंद्र सरकार गुजरात के सोमनाथ मंदिर ट्रस्ट की तर्ज पर राम मंदिर निर्माण के लिए भी ट्रस्ट बनाएगी। लेकिन इसमें 14-17 सदस्य हो सकते हैं। जबकि सोमनाथ मंदिर ट्रस्ट में सिर्फ छह सदस्य हैं। नया ट्रस्ट बनाए जाने के बजाय पुराने राम जन्मभूमि न्यास में ही नए लोगों को शामिल करने के विकल्प पर भी चर्चा हो रही है। मंदिर ट्रस्ट में विहिप और बजरंग दल को भी शामिल किया जाएगा। ट्रस्ट में कौन-कौन शामिल होगा इस पर अंतिम निर्णय