प्रयागराज – अखाड़ा परिषद भी अयोध्या राम मंदिर के पूजन कार्यक्रम में होगा शामिल
August 2, 2020 • बाराबंकी टाइम्स अनिकेत कुमार

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने भेजा भूमि पूजन में आने का न्यौता

प्रयागराज – अयोध्या राम मंदिर के पूजन कार्यक्रम में अखाड़ा परिषद होगा शामिल, अखाड़ा परिषद अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि होंगे शामिल.

  • श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने भेजा भूमि पूजन में आने का न्यौता।
  • तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने भेजा निमंत्रण पत्र।
  • प्रयागराज से 4 अगस्त को अयोध्या के लिए महंत नरेंद्र गिरि होंगे रवाना।
  • अखाड़ा परिषद के महामंत्री हरि गिरी भी साथ जाएंगे अयोध्या।
  • साधु-संतों की सर्वोच्च संस्था है अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद।
    रामनगरी के 25 स्थानों पर मानस पाठ व भजन के कार्यक्रम
    • लोगों को शिलान्यास कार्यक्रम का सजीव प्रसारण दिखाने की व्यवस्था की जा रही है।
    • अयोध्या को सजाने संवारने का काम तो तेजी से हो ही रहा है,
    • इसके साथ ही धार्मिक व सांस्कृतिक आयोजनों के जरिए भी रामनगरी की धार्मिक महत्ता को प्रदर्शित करने की तैयारी है।
    • भूमि पूजन के दिन रामनगरी के 25 स्थानों पर मानस पाठ व भजन के कार्यक्रम किए जाएंगे।
    • पूरी रामनगरी में मानस की चौपाइयां गूंजती नजर आएंगी।
    पूरी अयोध्या में उमंग, उत्साह का माहौल
    • श्रीरामजन्मभूमि के पुजारी आचार्य सत्येंद्र दास कहते हैं कि जब रामजन्मभूमि का ताला खुला था।
    • तब पूरी अयोध्या उल्लास में डूब गयी थी।
    • प्रत्येक रामभक्त के चेहरे पर खुशी देखी जा सकती थी।
    • करीब एक सप्ताह तक अयोध्या में दिवाली मनाई गयी थी।
    • अब एक बार फिर अयोध्या के लिए उत्सव का दिन आया है,
    • यह 1986 से बड़ा उत्सव होगा,
    • क्योंकि अब रामलला का दिव्य-भव्य मंदिर जो बनने जा रहा है।
    • जिसका इंतजार रामभक्तों को सदियों से था।
    • इसलिए पूरी अयोध्या में उमंग, उत्साह का माहौल है।
    Ayodhya Ram Temple worship program चप्पे-चप्पे पर कड़ी सुरक्षा व्यवस्था
    • राम नगरी में 3,500 सुरक्षाकर्मी को तैनात किए जा रहे हैं।
    • भूमि पूजन स्थल के आसपास और वीवीआईपी के रूट पर घरों व इमारतों की छतों में स्नाइपर्स तैनात किए जाएंगे।
    • साथ ही एटीएस की कमांडों टीमें भी मौजूद रहेंगी।
    • आर्टीफीशियल इंटेलिजेंस वाले पांच हजार सीसीटीवी कैमरों के जरिए
    • कार्यक्रम स्थल समेत अयोध्या के विशेष इलाकों की निगरानी की जाएगी।
    • ड्रोन कैमरों के जरिए आसमान से भी नजर रखी जाएगी।