पूर्व दर्जा प्राप्त राज्यमंत्री  अनिल यादव जी
July 30, 2020 • बाराबंकी टाइम्स

अनिल यादव जी ने 1989 में छात्र राजनीति के द्वारा राजनीति में प्रवेश किया और सन 1992 में समाजवादी पार्टी के संस्थापक  व तत्कालीन राष्ट्रीय अध्यक्ष नेताजी मुलायम सिंह यादव जी के द्वारा लखनऊ के चौक थाने में एक बुजुर्ग साइकिल वाले की रिपोर्ट लिखवाने के लिए वेश बदलकर थाने में पहुंच गए यह बात अनिल यादव जी के मन में अंदर तक प्रवेश कर गई और इस तरह नेता जी के विचारों से प्रभावित होकर समाजवादी पार्टी की राजनीति में प्रवेश किया और तब से आज तक समाजवादी पार्टी के सच्चे सिपाही के रूप में काम करते चले आ रहे हैं ना तो कोई पद का मोह है और ना ही कोई लालच है जमीनी स्तर पर समाजवादी पार्टी के लिए लगातार संघर्ष कर रहे हैं उनका सपना है माननीय अखिलेश यादव जी को प्रधानमंत्री के रूप में देखना और एक ऐसी राष्ट्र का निर्माण हो जो सभी जातियों और धर्म से ऊपर उठकर मानवता की मिसाल पेश करें अपना देश दुनिया में एक ऐसी पहचान रखे जो ना तो किसी के आगे झुके और ना किसी के आगे रुके उनका कहना है कि प्रदेश की बागडोर एक ऐसे व्यक्ति के हाथ में है जिसके ऊपर वर्तमान समय में लगभग 40 के आसपास मुकदमे चल रहे हैं प्रदेश में लगातार गुंडाराज बढ़ा हुआ है रोज प्रदेश में सैकड़ों हत्याएं हो रही हैं अपहरण हो रहे हैं लूट डकैती महिलाओं के साथ अत्याचार छात्राओं के साथ छेड़खानी दलितों का शोषण और प्रशासनिक स्तर पर या पुलिस के द्वारा कोई भी सुनवाई नहीं हो रही है अभी जल्द में ही कानपुर का अपहरण कांड उसके बाद में आप हर व्यक्ति की हत्या कर दी गई गोरखपुर में एक व्यक्ति की अपहरण के बाद हत्या कर दी गई गुना में 5 साल के बच्चे का किडनैप हो गया और सबसे बड़ी बात भारतीय जनता पार्टी की बड़ी कद्दावर मंत्री स्मृति ईरानी के क्षेत्र अमेठी से 2 महिलाओं ने आकर लोक भवन पर आत्मदाह का प्रयास किया खुद को आग लगा ली उनको अमेठी प्रशासन के द्वारा कोई इंसाफ न मिलने से हो इतना शुभ थी कि अब जब उनको कहीं इंसाफ मिलता हुआ नजर नहीं आया तो एक रास्ता बचा मौत को गले लगाने का इसलिए उन्होंने अपने ऊपर मिट्टी का तेल छिड़ककर आग लगा ली इसमें मां की मृत्यु हो गई और बेटी का इलाज चल रहा है इस समय वैश्विक महामारी का संक्रमण चल रहा है पूरे विश्व में इस समय राम मंदिर का शिलान्यास समझ से परे है इस महामारी के समय अगर यही पैसा चिकित्सा के क्षेत्र में लगाया जाए तो गरीब शोषित जनता जो अपना इलाज नहीं करवा पाती है और उसका कल्याण हो जाए और इसके अलावा जितने भी कार्य पूर्वर्ती अखिलेश यादव जी की सरकार में किए गए चाहे हो 100 नंबर की आपातकालीन सेवा हो चाहे वह मेट्रो हो चाहे वह क्रिकेट स्टेडियम हो चाहे वह 108 एंबुलेंस सेवा हो चाहे आगरा एक्सप्रेसवे हो जितने भी काम पूर्ववर्ती सरकार में किए गए हैं यह वर्तमान की सरकार सिर्फ उन्हीं का फीता काटने में व्यस्त है और एक भी कार्य कोई नया नहीं हुआ है जो वर्तमान सरकार की उपलब्धियों में गिना जाए पूरा प्रदेश अपराध प्रदेश बन चुका है रामराज से गुंडाराज की तरफ चला गया है गोलीकांड से अग्निकांड तक पहुंच गया