पत्नी का सिर काट थाने जा रहा पति रास्ते में गिरफ्तार
February 2, 2020 • बाराबंकी टाइम्स अरविन्द मौर्या

मृतका के पिता ने दहेज हत्या का लगाया आरोप, दी तहरीर

संवादसूत्र, बाराबंकी : पत्नी का हंसिया से गला रेतकर उसका सिर लेकर थाने जा रहे युवक को पुलिस ने हिरासत में लेकर सिर कब्जे में ले लिया है। पिता ने दहेज हत्या का आरोप लगाते हुए पति सहित चार के खिलाफ तहरीर दी है।

जहांगीराबाद थाना क्षेत्र के ग्राम बहादुरपुर निवासी अखिलेश रावत की शादी तीन वर्ष पहले सतरिख थाना क्षेत्र के ग्राम पाराकुआं निवासी गो¨वद रावत की पुत्री रंजना के साथ हुआ था। करीब डेढ़ माह पूर्व रंजना की तीन माह की पुत्री बीमारी से मर गई थी। घटना के बाद से रंजना मायके में रह रही थी। चार दिन पहले ही रंजना को विदा कराकर अखिलेश लाया था। शनिवार की दोपहर करीब पौने दो बजे अखिलेश और रंजना (25) के बीच झगड़ा हो गया। अखिलेश पत्नी को पीटते हुए घर के बाहर बरामदे में लाया और उसे पटककर हंसिया से गला रेत दिया। यही नहीं ताबड़तोड़ हमलाकर पत्नी का सिर धड़ से अलग कर दिया और सिर के बाल पकड़कर थाने की ओर चल दिया। करीब आधे घंटे बाद जब अखिलेश डेढ़ किमी दूर जा चुका था। इसी बीच पुलिस वहां पहुंचकर उसे गिरफ्तार कर लिया। एसपी डॉ. अर¨वद चतुर्वेदी व एएसपी आरएस गौतम ने घटना स्थल का जायजा लिया और आरोपित से वार्ता की। घटना स्थल का जायजा लेकर शव को पीएम के लिए भेजा है। सूचना पर पहुंचे मृतका के पिता ने दामाद अखिलेश सहित चार के खिलाफ दहेज हत्या की तहरीर दी है। एसपी ने बताया कि जो तहरीर मिली है मुकदमा दर्ज किया जा रहा है। वारदात से जुड़े अन्य पहलुओं पर भी जांच की जा रही है।

जो देखा सहम गया : हाथ में रक्त रंजित सिर लेकर जा रहे अखिलेश को राह चलते जो देखता सहम जाता। तमाम लोग वीडियो बनाने लगे और फोटो खींचने लगे, लेकिन उसे टोकने अथवा रोकने का साहस किसी में नहीं हुआ। पुलिस ने भी उसे घेरकर पकड़ा और जबरन उसके हाथ से सिर को कब्जे में लिया। 

पूर्व में हुई ऐसी वारदातें

17 जनवरी 2010 मैगलपुर गांव निवासी रामसरन ने पत्नी मीरा देवी को अवैध संबंध के शक में हत्या की और सिर काटकर पैदल 15 किमी दूर पैदल चलते हुए कोतवाली नगर में आकर आत्मसमर्पण किया था।

2010 में ही कमरखा निवासी भास्कर नामक युवक की हत्या गांव के ही एक व्यक्ति ने कर दी थी। पत्नी से अवैध संबंध के कारण भास्कर का सिर काटकर आरोपित जहांगीराबाद थाने पहुंच गया था।

10 जनवरी 2008 को जहांगीराबाद थाना क्षेत्र के ग्राम अतरौरा निवासी माता प्रसाद ने अपने पिता ईश्वरदीन के साथ मिलकर पत्नी मालती देवी को अवैध संबंध के शक पर बांके से काट डाला। सिर को धड़ से अलग कर माता प्रसाद सिर लेकर थाने पहुंच गया था।

दिसंबर 2014 में देवा थाना क्षेत्र के ग्राम मवैय्या निवासी मनीराम अपनी पत्नी सुमन देवी का सिर काटकर देवा थाने पहुंच गया था। इस वारदात के पीछे भी अवैध संबंध बताया गया था। जेल में मनीराम ने फांसी लगाकर जान दे दी थी।