पराली और कचरा जलाने में तीन एसओ का वेतन रोका
December 11, 2019 • बाराबंकी टाइम्स

डीएम ने दिखाई सख्ती 18 अफसर व कर्मचारियों पर की कार्रवाई

 बाराबंकी: पिछले एक माह के अंदर पराली व कचरा जलाने की घटनाओं से संबंधित मामलों की समीक्षा जिलाधिकारी डॉ. आदर्श सिंह ने मंगलवार की देर शाम की।

उन्होंने विभिन्न घटनाओं में प्रथम दृष्टया लापरवाह पाए गए अधिकारियों, कर्मचारियों का वेतन रोकने और स्पष्टीकरण मांगने की कार्रवाई की है। इस कार्रवाई में नगर कोतवाली, देवा कोतवाली व सतरिख कोतवाली प्रभारी निरीक्षकों का वेतन रोकने की संस्तुति करते हुए उनसे भी स्पष्टीकरण मांगा गया है। सतरिख थाने के एक सिपाही को लाइन हाजिर भी किया गया है। कुल 19 अधिकारी, कर्मचारी कार्रवाई की जद में आए हैं।

उप कृषि निदेशक एके सागर ने बताया कि 112 मामले कचरा व पराली जलाने के सामने आए हैं। इसमें 102 मामले धान की पराली के हैं। इसके लिए 3.190 लाख रुपये घोषित किया गया। इसमें से 1.615 लाख रुपये की वसूली हो चुकी है। राजस्व निरीक्षक आशुतोष उपाध्याय से स्पष्टीकरण, लेखपाल जितेंद्र देव मिश्र के खिलाफ विभागीय कार्रवाई, लेखपाल दीपक कुमार, पवन कुमार, प्रियंका श्रीवास्तव, जगदीश प्रसाद, दीनानाथ पांडेय, योगेंद्र प्रताप सिंह, ग्राम पंचायत अधिकारी छेदानगर सौम्या सिंह से स्पष्टीकरण मांगा है। अधिशाषी अधिकारी नगर पंचायत देवा, सीओ सदर, तहसीलदार नवाबगंज, नायब तहसीलदार नवाबगंज को संभागीय कृषि प्रसार अधिकारी सदर, छेदानगर के ग्राम प्रधान से भी स्पष्टीकरण मांगा है। छेदानगर गांव की बीट के सिपाही को लाइन हाजिर करने के निर्देश दिए हैं। एसपी आकाश तोमर ने सिपाही अनूप सिंह को लाइन हाजिर भी कर दिया है।

धनोखर से सतरिख नाका जाने वाले मार्ग पर अतिक्रमण हटाने के दौरान एसडीएम अभय कुमार पांडेय से वार्ता करते डीएम डॉ. आदर्श सिंह ' जागरण

धनोखर सरोवर के चारों तरफ अतिक्रमण देख डीएम नाराज

बाराबंकी : अतिक्रमण के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान के तहत धनोखर चौराहे से नाका सतरिख तक अतिक्रमण हटवाया गया। डीएम डॉ. आदर्श सिंह भी मौके पर पहुंचे। उन्होंने दुकानों के सामने टिनशेड रखने के लिए बनाए गए लोहे के एंगल भी तोड़वाने का निर्देश दिया। डीएम ने कहा कि एंगल लगे रहेंगे तो लोग दोबारा टिनशेड रखेंगे। टिनशेड के नीचे तक सामान रखने के बाद सड़क तक कब्जा जमाएंगे। डीएम ने धनोखर सरोवर के अवरुद्ध पड़े सुंदरीकरण कार्य को देखकर नाराजगी जताई। गुड़ मंडी की ओर से मात्र दो फिट का रास्ता बचा है जबकि करीब 25 फिट पर लोहे की दुकानें रखकर कब्जा जमा रखा गया है। डीएम ने एसडीएम सदर अभय कुमार पांडेय व ईओ नगर पालिका वीरेंद्र कुमार श्रीवास्तव को अतिक्रमण हटवाने के लिए निर्देशित किया। अतिक्रमण हटवाकर सुंदरीकरण पूरा किया जाए। इसमें बाधा पहुंचाने वालों पर कार्रवाई की जाए ।