नशे की हालत में कतई न चलाएं वाहन: एआरटीओ
November 29, 2019 • बाराबंकी टाइम्स

बाराबंकी : भाषण प्रतियोगिता के माध्यम से छात्र और छात्रओं ने नियम पालन का संदेश दिया है। इसमें अव्वल प्रतिभागियों को जिलाधिकारी ने पुरस्कार देकर सम्मानित किया।

गुरुवार को रसौली स्थित सागर इंजीनियरिंग कॉलेज में यातायात माह के तहत एआरटीओ पंकज सिंह के नेतृत्व में भाषण प्रतियोगिता आयोजित हुई। जिसमें इंजीनियरिंग कॉलेज के छात्र और छात्रओं ने भाग लिया। भाषण प्रतियोगिता का शुभारंभ जिलाधिकारी डॉ. आदर्श सिंह ने किया। सड़क दुर्घटनाओं में किस प्रकार कमी लाई जाए, इस पर अपने विचार व्यक्त किए।

विषय वस्तु, संप्रेषण शैली, भाषा के आधार पर प्रथम स्थान पाने की छात्र सिद्दीका को 21 हजार, द्वितीय स्थान पर अनुराग तिवारी को 11 हजार और तृतीय स्थान पाने वाली छात्र रिचा सिंह को सात हजार का पुरस्कार देकर डीएम ने सम्मानित किया। इस मौके पर जिलाधिकारी डॉ. आदर्श सिंह ने कहा कि यदि दुर्घटनाओं में कमी लानी है तो सबसे पहले हमें जागरूक होना पड़ेगा। वाहन चलाते समय यदि बाइक हो तो हेलमेट और कार हो तो सीट बेल्ट लगानी अनिवार्य है। वाहन को चलाते समय संकेतों को विशेषकर ध्यान देना है, जहां भी स्कूल, मोड़ और ट्रैफिक हो, वहां पर वाहन को धीमा करें, यदि संभव हो तो वाहन रोक दें। जेब्रा पार्क पर लोगों को निकल जाने दें, स्पीड 40 के ऊपर न हो।

एआरटीओ पंकज सिंह ने कहा कि वाहन नशे में न चलाएं। अब बाइक पर पीछे बैठने वाले व्यक्ति को भी हेलमेट लगाना अनिवार्य कर दिया है। जबकि कार सवार दूसरे व्यक्ति को भी सीट बेल्ट लगाना होगा। एआरटीओ प्रवर्तन राहुल श्रीवास्तव, डॉ. गीता मेहरा आदि मौजूद रहे।