मुकदमों में पीड़ित व आरोपित दोनों ने आरोप लगाया कि चौकी इंचार्ज क्षेत्र में बिना पैसे लिए किसी का कोई कार्य नहीं करते हैं
July 4, 2020 • बाराबंकी टाइम्स अर्पित शुक्ला

सीतापुर:- जिले के महमूदाबाद तहसील के अंतर्गत स्थित थाना रामपुर मथुरा के क्षेत्रीय चौकी चांदपुर बाजार के चौकी इंचार्ज लल्लन प्रसाद के ऊपर एक मुकदमों में पीड़ित व आरोपित दोनों ने आरोप लगाया कि चौकी इंचार्ज क्षेत्र में बिना पैसे लिए किसी का कोई कार्य नहीं करते हैं। यदि जो व्यक्ति पैसा देने के लिए तैयार नहीं होता है तो उसके ऊपर एफआईआर दर्ज कर ब्लैकमेल किया जाता है।

जिसके चलते इसी बीच एक ऑडियो वायरल हुआ जिसमें तक़रीबन आठ महीने पहले दर्ज हुए नौ वर्षीय बच्ची के अपहरण के मुकदमे की विवेचना के चलते आरोपी व्यक्ति को चौकी इंचार्ज  फोन पर मारपीट करने की सलाह दे रहे हैं। पहले तो फोन पर गांव में बाहर से कमा कर आए व्यक्तियों के बारे में जानकारी मांगी फिर उक्त व्यक्ति से गांव में मारपीट करने की सलाह दे डाली जिसमें विपक्षी व उसकी बीबी को मारने पीटने की बात की कबिलवा को मारो गिर जाए उसकी बीवी को मारोगे जाए ।
जबकि मामले में आरोपी बनाए गए व्यक्ति से पहले कई बार फोन पर वह सामने चौकी इंचार्ज ने लगातार जमीन की सौदेबाजी भी की कहा कि उसको जमीन दे दो तो वह अपनी लड़की ले आए नहीं तो जेल चले जाओगे जिंदगी बर्बाद हो जाएगी।

अब यहां पर सवाल खड़ा होता है कि क्षेत्र में शांति, कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए जिनको सरकार की तरफ से नियुक्त किया जाता है और वेतन के नाम पर मोटी रकम दी जाती है फिर भी क्षेत्र में शांति व्यवस्था बनाए रखने के बजाय और माहौल खराब करते हैं का काम कर रहे हैं।

सूत्रों की माने तो ऐसे ही छोटे-मोटे मामलों को समझाने के बजाए दरोगा साहब दोनों पक्षों को उकसाकर मामले को बढ़ाया जाता है,जब मामला गंभीर हो जाता है तो दरोगा साहब दोनों तरफ से मोटी रकम खींचते हैं।
और मामले को लटकाए रखते हैं।
जब इस ऑडियो के संबंध में हमारे संवाददाता ने चौकी प्रभारी लल्लन प्रसाद से बात कर जानकारी चाही तो उनका साफ कहना था कि कार्यवाही करवा दीजिए।

अब देखने की बात यह है कि एसपी महोदय ऐसे पुलिस अधिकारी पर क्या कार्यवाही करते हैं?