मोदी की चुनौती, हिम्मत है तो अनुच्छेद 370 की वापसी का वादा करे विपक्ष
October 14, 2019 • बाराबंकी टाइम्स

महाराष्ट्र में प्रधानमंत्री की ललकार कहा-भारत का मस्तक है जम्मू-कश्मीर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अनुच्छेद 370 और तीन तलाक के मुद्दों पर विपक्ष को सीधी चुनौती दी है। प्रधानमंत्री ने कहा है कि अगर विपक्षी दलों में हिम्मत है तो वो अनुच्छेद 370, 35ए और तीन तलाक को वापस लाने का वादा करें।

महाराष्ट्र विधानसभा चुनाव के लिए अपनी रैलियों की शुरुआत करते हुए रविवार को प्रधानमंत्री मोदी ने यहां खासकर कांग्रेस और राकांपा को आड़े हाथों लिया। अनुच्छेद 370 को खत्म करने के उनकी सरकार के फैसले का विरोध करने वाली कांग्रेस और राकांपा की आलोचना करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि जम्मू-कश्मीर 'सिर्फ जमीन का एक टुकड़ा नहीं है, बल्कि भारत का मस्तक है।'

अनुच्छेद 370 के मुद्दे पर प्रधानमंत्री ने कहा, 'मैं उन्हें चुनौती देता हूं कि अगर उनमें हिम्मत है तो इस चुनाव में और आने वाले चुनावों के लिए घोषणापत्र में एलान करें कि वे 370 और 35ए को वापस लाएंगे। वो यह भी घोषणा करें कि पांच अगस्त के निर्णय को बदल देंगे वर्ना ये घड़ियाली आंसू बहाना बंद करें।'

 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने महाराष्ट्र चुनाव के लिए रविवार को जलगांव में जनसभा को संबोधित किया ' एनएनआइ

जेएनएन, करनाल : रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने पाकिस्तान को आतंकवाद के मुद्दे पर नए तरीके से घेरा है। उन्होंने कहा कि पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान यदि आतंकवाद को नियंत्रित करने के लिए गंभीर हैं तो भारत उनका सहयोग करने को तैयार है। वह जहां चाहे, वहां आतंकवाद के खात्मे के लिए भारत अपनी सेना भेजने को तैयार है। पाक की माली हालत पर कटाक्ष किया कि यही रहा तो दुनिया में कोई भी उसे खंड-खंड होने से नहीं रोक सकता। राजनाथ ने कांग्रेस को भी कठघरे में खड़ा किया कि उसके बेवजह के बयानों को पाकिस्तान इस्तेमाल करता है। राजनाथ सिंह रविवार को हरियाणा में करनाल, सोनीपत और गुरुग्राम जिलों में चुनावी जनसभाओं को संबोधित कर रहे थे। राफेल मामले में राहुल गांधी द्वारा प्रधानमंत्री मोदी को लेकर की गई बयानबाजी को याद करते हुए राजनाथ सिंह भावों में बह गए। उन्होंने कहा कि स्वस्थ राजनीति में शब्दों का इस्तेमाल सोच समझकर करना चाहिए। राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री व मुख्य न्यायाधीश का पद व्यक्ति विशेष का नहीं है। यह संपूर्ण संस्था है। उन्होंने प्रधानमंत्री मोदी का जिक्र करते हुए कहा कि वह चोरी किसके लिए करेंगे? बेटी के लिए? अपनी पत्नी के लिए? इस तरह के आरोप लगाते हुए उनकी जुबान को.. यह कहते हुए राजनाथ रुके और फिर बोले क्या कहूं रहने दो। उन्होंने कहा कि राफेल पर ओम लिखा तो कांग्रेस ने आपत्ति जताई। जबकि कांग्रेस को स्वागत करना चाहिए था।

पाक चाहे तो भारत आतंकवाद के खात्मे को सेना भेजने को तैयार: राजनाथ सिंह

370 पर बोले, पहले यह असंभव लगता था

अनुच्छेद 370 खत्म करने के सरकार के फैसले को सही बताते हुए मोदी ने कहा कि पहले यह सोचा भी नहीं जा सकता था कि इस तरह का फैसला हो सकता है। पहले इस तरह का फैसला असंभव लगता था। उन्होंने कहा कि इसकी वजह से जम्मू-कश्मीर में सिर्फ आतंकवाद और अलगाववाद ही बढ़ा है। उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार की कथनी और करनी में फर्क नहीं है।

प्रधानमंत्री ने तीन तलाक के मुद्दे पर भी विपक्षी दलों पर हमला किया। उन्होंने कहा कि विपक्षी दल चाहते थे कि मुस्लिम बहनों को न्याय नहीं मिले। उन्होंने कहा, 'लेकिन मैंने मुस्लिम माताओं और बहनों से किया गया वादा पूरा किया।' उन्होंने तीन तलाक की प्रथा को भी वापस लाने की विपक्ष को चुनौती दी।