मामूली विवाद में बड़े भाई को मार डाला
November 6, 2019 • बाराबंकी टाइम्स

गड्ढे में पाली गई मछलियों का शिकार रोकने पर हमला

बेलहरा (बाराबंकी) : चिरैयापुरवा गांव में सोमवार की देर रात मछली पकड़ने के विवाद को लेकर दो भाइयों में हुए विवाद में छोटे भाई ने बड़े भाई पर लाठी व धारदार हथियार से हमला कर दिया। गंभीर रूप से घायल बड़े भाई की जिला अस्पताल में मौत हो गई।

थाना मोहम्मदपुर खाला क्षेत्र के ग्राम चिरैया पुरवा में सड़क किनारे गड्ढे में भरे पानी में दुर्गा प्रसाद के पुत्र राजकुमार ने मछली डाली थी, जिसे दुर्गा प्रसाद का भतीजा मुन्नन पकड़ने लगा। इसका राजकुमार ने विरोध किया, इसी बात को लेकर दोनों में काफी कहासुनी हुई।

लोगों ने मामला शांत करा दिया। इसके बाद देर रात दुर्गा प्रसाद व उनके बड़े भाई रामआसरे के बीच दोबारा इसी बात को लेकर विवाद हो गया और मारपीट होने लगी। इसमें रामआसरे गंभीर रूप से घायल हो गए, जिन्हें उपचार के लिए सीएचसी फतेहपुर ले जाया गया। यहां से जिला अस्पताल रेफर किया गया, जहां उपचार के दौरान रामआसरे (50) की मौत हो गई। मृतक की पुत्री खुशबू ने बताया कि हमारे पिता को चाचा दुर्गा प्रसाद ने धारदार हथियार व डंडों से मारा है, जिससे उनकी मौत हो गई है। मारपीट में खुशबू को भी चोटें आई हैं। थानाध्यक्ष मनोज शर्मा ने बताया कि दोनों भाइयों के बीच आधा किलो मछली को लेकर विवाद हुआ था। इसमें हुई मारपीट में रामआसरे गंभीर रूप से घायल हो गया था।जिसकी उपचार के दौरान मौत हो गई है। मृतक के पुत्र मुन्नन की तहरीर पर दुर्गा प्रसाद व उनके पुत्र राजकुमार, बिशनू और रामविलास के विरुद्ध गैर इरादतन हत्या का मुकदमा पंजीकृत किया गया है।

ग्राम चिरैया पुरवा में थोड़ी सी मछली को लेकर हुए विवाद में रामआसरे की मौत हो गई। रामआसरे के दो पुत्र व पांच बेटियां है। बड़ी बेटी पूजा (20), खूशबू (18), सोनम (13), अंजली (10), सगुनी (8) बेटियां हैं। बड़ा बेटा मुन्नन (25) बाहर प्राइवेट नौकरी करता है। छोटा बेटा अंकू है। पूरा परिवार रामआसरे की मजदूरी पर ही आश्रित था। रामआसरे की मौत के बाद घर वालों का रो-रो कर बुरा हाल था। सबको लड़कियों के विवाह के साथ ही उनकी पढ़ाई लिखाई की चिंता थी। रामआसरे की एक बीघे जमीन व मजदूरी ही पूरे परिवार का सहारा थी।