लिपिक को न आवंटित किया जाए आशुलिपिक संवर्ग
November 14, 2019 • बाराबंकी टाइम्स

बाराबंकी : उत्तर प्रदेश लोक निर्माण विभाग मिनिस्टीरियल एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष राजेंद्र सिंह, महामंत्री पीयूष के नेतृत्व में गेस्टहाउस परिसर में धरना दिया। इसमें कर्मचारियों ने लिपिक को आशुलिपिक संवर्ग को न आवंटित किए जाने की मांग उठाई। वहीं छठे दिन विद्युत कर्मचारी संयुक्त संघर्ष समिति के बैनर तले चल रहा धरना जारी रहा।

वरिष्ठ उपाध्यक्ष केके सिंह ने कहा कि सरकार एवं उच्च प्रबंधन हमारे धैर्य की परीक्षा न ले, क्योंकि हम अपने अधिकार पाने के लिए हर हद तक जाएंगे। यह विरोध सभा विद्युत विभाग के शीर्ष प्रबंधन द्वारा कर्मचारियों एवं अधिकारियों की भविष्य निधि की धनराशि को एक निजी संस्था को निवेश के लिए मनमाने ढंग से दिए जाने के विरोध में आयोजित की गई है। सौमित्र भट्टाचार्य, विनोद गिरि, उदय प्रकाश, सुधीर श्रीवास्तव, अखिलेश कुमार, संतोष कुमार, राम अवध यादव, तौफीक अहमद, मनोज कुमार, सुधीर श्रीवास्तव आदि रहे।

पीएफ घोटाले के विरोध में धरना

बाराबंकी : बिजली विभाग के कर्मचारी भविष्य निधि की धनराशि में घोटाले के विरोध में बुधवार को भी धरने पर बैठे रहे। कर्मचारी नेता केके सिंह ने कहा कि शीर्ष अधिकारियों ने मनमाने तरीके से भविष्य निधि की धनराशि निजी कंपनियों को दी। सरकार को चाहिए कि कर्मचारियों की भविष्य निधि धनराशि सुरक्षित होने संबंधी घोषणा करे। धरने में धमेंद्र सिंह, सौमित्र भट्टाचार्य, विनोद गिरी, उदय प्रकाश, अखिलेश कुमार, सुधीर श्रीवास्तव, राम अवध, मनोज कुमार, अमित श्रीवास्तव, श्याम सुंदर, विमल वर्मा, राधेश्याम व जेपी श्रीवास्तव आदि मौजूद रहे।

 

पीडब्लूडी कार्यालय में धरना प्रदर्शन करते डिप्लोमा ईजीनियर ' जागरण