हो सकती है विद्युत की समस्या विद्युत कर्मचारी करेंगे 5 को धरना प्रदर्शन
October 5, 2020 • बाराबंकी टाइम्स राम गोपाल

 विद्युत कर्मचारी मोर्चा संगठन कार्य बहिष्कार में शामिल न होकर निजिकरण के विरोध में 5 अक्टूबर 2020 लखनऊ सहित पूरे प्रदेश में कैंडल मार्च निकलेगा।

लखनऊ/04 अक्टूबर
विद्युत कर्मचारी मोर्चा संगठन उ प्र के केंद्रीय पदाधिकारियों की बैठक संगठन कार्यालय में सम्पन्न हुई।बैठक में निर्णय लिया गया कि मोर्चा संगठन किसी तरह के कार्य बहिष्कार का न तो समर्थन करेगा और न ही शामिल होगा।
बैठक की संबोधित करते हुए संगठन के केंद्रीय अध्यक्ष ने कहा कि मोर्चा संगठन की पूरी तैयारी और कोशिश है कि राजस्व को हानि पहुंचाए बिना सरकार द्वारा सोचे जा रहे निजिकरण को रोका जाए।उन्होंने आरोप लगाया कि कुछ भ्रष्ट अधिकारियों का समूह अपने कुकृत्यों को छिपाने के लिए कर्मचारियों के सामने निजीकरण का डर पैदा करके अपना स्वार्थ सिद्ध करना चाह रहा है।जबकि विभाग इन्हीं विशेष वर्ग द्वार पोषित भ्रष्टाचार के कारण गंभीर वित्तीय संकट से जूझ रहा है।तो ऐसे समय में ऊर्जा विभाग को तबाही से बचाने के लिए व्यवस्था को मजबूत करके बिजली चोरी रोककर शत-प्रतिशत विद्युत बकाया वसूलकर और कमीशनबाजी खत्म करके राजस्व की स्थिति को मजबूत करने की जरूरत है न कि कर्मचारियों को निजिकरण का भय दिखाकर काम न करके पूरे विभाग को बर्बादी की ओर धकेला जाए।उन्होंने कहा कि केसा के निजीकरण की बात चलने पर कर्मचारियों ने पूरा जी जान लगाकर राजस्व बढ़ाया और निजिकरण की बात को कोसों पीछे धकेल दिया।
  बैठक में शामिल छोटेलाल दीक्षित, प्रान.कार्यवाहक अध्यक्ष, इं. मोहन जी श्रीवास्तव, प्रांतीय प्रमुख महामंत्री ने05 अक्टूबर को सायं 5 बजे लखनऊ एवं प्रदेश में होने वाले कैंडल मार्च की रणनीति तय करते हुए बताया कि 5अक्टूबर को शक्ति भवन से गांधी पार्क जी पी ओ तक रैली जाएगी।
बैठक में नवीन गौतम, सरजू त्रिवेदी, आलोक कपूर, जे पी यादव, मनीष श्रीवास्तव, ओ पी श्रीवास्तव, शरद मिश्र आदि उपस्थित रहे।
        चंद्र प्रकाश अवस्थी'बब्बू'केंद्रीय अध्यक्ष
  इं.मोहन जी श्रीवास्तव,प्रांतीय प्रमुख महामंत्री