देवा मेले में मां से बिछड़ी युवती तीसरे दिन मिली
October 30, 2019 • बाराबंकी टाइम्स

संवादसूत्र, बाराबंकी : बनारस से देवा मेला अपनी मां के साथ आई एक मानसिक रोगी युवती बिछड़ गई। मां दो दिन तक अकेले खोजती रही फिर घर वालों को फोन कर बुलाया। पुलिस ने सिर्फ तहरीर ले ली। पिता और भाई ने अपने प्रयास से उसे खोज निकाला।

वाराणसी के थाना भेलूपुर के मुहल्ला डेवडियाबीर निवासी अशरफ अली की पत्नी हसीबुन निशा अपनी मानसिक रोगी पुत्री हसीना के साथ देवा मेला जाने के लिए 23 अक्टूबर को शाम पांच बजे स्थानीय रेलवे स्टेशन पर उतरी। देवा जाने के लिए टैक्सी का इंतजार करते समय हसीना भटक गई। मां हसीबुन का कहना है कि पुत्री के बिछड़ जाने के बाद उसने उसे दो दिन पैदल ढूंढा। तब थकहार गई तो पति को फोन कर जानकारी दी। पति व पुत्र वहां से आए और नगर कोतवाली पुलिस को जानकारी दी। इसके बाद पैदल देवा तक गए। रास्ते में जहां कहीं कोई चाय-पान की दुकान मिली मोबाइल नंबर देकर पुत्री का फोटो दिखाया। रविवार की शाम को सूतमिल तिराहे के पास से एक व्यक्ति ने सूचना दी। तब देवा से लौटकर आए। सूतमिल के पास हसीना बैठी हुई मिल गई।