डीपीआरओ कार्यालय में नहीं मिलीं फाइलें
November 23, 2019 • बाराबंकी टाइम्स

बाराबंकी : जिला पंचायत राज कार्यालय का निरीक्षण डीएम डॉ. आदर्श सिंह ने किया। इस दौरान कैशबुक और सफाई कर्मियों के निलंबन व बहाली संबंधी पत्रवलियां गायब मिलीं। डीएम ने डीपीआरओ से कमियों को लेकर जवाब-तलब किया है।

शुक्रवार की दोपहर करीब 12 बजे विकास भवन स्थित जिला पंचायत राज अधिकारी (डीपीआरओ) कार्यालय पहुंचे डीएम ने शौचालय निर्माण संबंधी पत्रवली सबसे पहले तलब की। इसमें पंचायतों को कितने शौचालय निर्माण के लिए धनराशि से संबंधित कैशबुक पत्रवलियां नहीं मिलीं। डीएम ने मनमाने तरीके से धनराशि भेजे जाने पर आपत्ति जताई। डीपीआरओ रणविजय सिंह निरुत्तर दिखे। सफाई कर्मियों का स्थापना पटेल देखने वाले अभय कुमार शुक्ला से सफाई कर्मियों के निलंबन और बहाली की पत्रवली मांगी तो वह नहीं दिखा पाए। इनके पास सूरतगंज ब्लॉक का एडीओ पंचायत का भी प्रभारी का जिम्मा है। इन्हें जूनियर पंचायत सचिव होने के बावजूद भी एडीओ पंचायत की जिम्मेदारी भी दिए जाने पर डीएम ने नाराजगी जताई। डीपीआरओ से गायब पत्रवलियों के संबंध में स्पष्टीकरण मांगा। 14वें वित्त व राज्य वित्त का पटल देख रहे जिला परियोजना अधिकारी निरंकार द्विवेदी से भी पूछताछ की। यहां पर प्रिया सॉफ्ट अकाउंट क्लोज नहीं पाए गए। बिना बिल बाउचर के ही लाखों का भुगतान किए जाने पर उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायत स्तर पर अकाउंट क्लोज करने में इतनी लापरवाही क्यों बरती गई? इस पर भी नोटिस देने के लिए डीपीआरओ को निर्देश दिया है।एनआरएलम कार्यालय का भी निरीक्षण : डीएम ने राष्ट्रीय आजीविका मिशन (एनआरएलएम) कार्यालय का भी निरीक्षण किया। कर्मचारियों को गांवों में एनआरएलएम के तहत गठित समूहों को सक्रिय बनाए रखने के निर्देश दिए।

डीएम के निरीक्षण में सामने आई हकीकत, कैशबुक और सफाई कर्मियों के निलंबन व बहाली संबंधी पत्रवलियां मिलीं गायब