बारिश से बढ़ गई ठिठुरन, गिर गया पारा
December 14, 2019 • बाराबंकी टाइम्स

गुरुवार रात से शुक्रवार दिनभर हुई रुक-रुककर बारिश गेहूं को छोड़ अन्य खरीफ फसलों को नुकसान

बाराबंकी: सर्द हवाओं के बीच बारिश होने से मौसम में ठिठुरन बढ़ गई है। गुरुवार रात से शुक्रवार को दिन भर रुक-रुककर बारिश होती रही। अधिकतम तापमान 5.8 डिग्री सेंटीग्रेड सरक कर 17.2 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। जबकि, न्यूनतम तापमान में भी एक डिग्री सेंटीग्रेड की गिरावट दर्ज की गई, जोकि 11 डिग्री सेल्सियस रहा।

बारिश के चलते सर्दी बढ़ने से सबसे बड़ी दिक्कतें ग्रामीण क्षेत्र के परिषदीय स्कूलों में पढ़ने नौनिहालों को हो रही है। सुबह नौ बजे स्कूल खुलने का समय है। लेकिन कई स्कूलों में नौनिहाल सुबह आठ बजे के करीब ही स्कूल पहुंच जाते है। बारिश के साथ तेज हवा ने ठंड बढ़ा दी है। दिनभर रुक-रुक हो रही बारिश के चलते लोग सड़क पर भीगे। धूप न निकलने से लोग दिन में लाइट जलाकर सड़क पर वाहन चलते नजर आए।

गेहूं के लिए अमृत बनी जाड़े की पहली बारिश: जाड़े के मौसम की पहली बारिश खरीफ फसलों में खासकर गेहूं के लिए अमृत जैसी रही। गेहूं की बोआई लगभग हो चुकी है। अधिकांश किसान पहली सिंचाई भी करने वाले थे। ऐसे में गुरुवार रात हुई बारिश गेहूं के लिए फायदेमंद साबित हुई। बारिश का पानी चना, मटर, मसूर की फसल के लिए भी अच्छा है क्योंकि इन फसलों की सिंचाई करने में अधिक पानी होने पर नुकसान होता है। हालांकि अब और पानी बरसा तो गेहूं को छोड़ अन्य खरीफ फसलों को नुकसान होगा। सरसों की उस फसल को थोड़ा नुकसान हुआ है जिसमें फूल आ रहे हैं और किसान पहले सिंचाई कर चुके थे। मगर पछेती सरसों की फसल जिसकी सिंचाई अभी नहीं हुई उसके लिए बारिश का पानी बेहतर माना जा रहा है। हरख ब्लॉक के दौलतपुर के प्रगतिशील किसान पदमश्री रामसरन वर्मा ने बताया कि गेहूं के लिए बारिश बहुत अच्छी रही। वहीं इस पहली बारिश से फसलों व पेड़-पौधों पर जमा धूल भी छंट गई। वातावरण में भी धुंध का असर समाप्त हुआ। जंगरा निवासी किसान प्रह्लाद बारिश से सरसों की फसल नुकसान बताते हैं।

व्यापारियों ने किया घेराव-हैदरगढ़: कस्बा में सुबह लगातार छह घंटे हुई बारिश से सर्राफा बाजार, सब्जी मंडी, किराना मंडी में सड़क व नाली तथा दुकानों व घरों में बरसात का पानी लबालब भर गया। इससे आक्रोशित व्यापारियों ने नगर पंचायत कार्यालय का घेराव कर ज्ञापन सौंपा। सतीश अग्रवाल, लाला लक्ष्मीनारायण साहू, सभासद विपिन साहू, ननकऊ साहू, राजेंद्र कुमार साहू, विनोद साहू, उदयनारायण अग्रवाल, अनुज, अनुराग शुक्ला आदि ने बताया कि हाईवे निर्माण के दौरान जल निकासी के लिए रोड साइड बना वाला क्षतिग्रस्त हो जाने से लोगों को परेशानी का सामनाकरना पड़ा। रानीबाजार : रामनगर और मसौली की ग्राम सुरवारी, मसुदमऊ, सआदतगंज, मलौली आदि ग्राम पंचायतों में नाली खड़ंजा संपर्क मार्ग पर पानी भर गया है।

फैक्ट फाइल

दिनांक अधि. तापमान न्यून. तापमान

07/12 22 10

08/12 23 11

09/12 22 10

10/12 23 11

11/12 22 11

12/12 23 12

13/1217.2 11

(नोट : तापमान डिग्री सेंटीग्रेड में)

शुक्रवार सुबह हुई रिमङिाम बारिश के बीच ठिठुरती बाइक सवार युवती व रेलवे स्टेशन पर स्थित रैन बसेरा से बारिश का पानी निकालता कर्मचारी 'जागरण