अभी तक नहीं हटाए गए पीसीसीएफ
November 12, 2019 • बाराबंकी टाइम्स

राज्य ब्यूरो, लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के स्पष्ट आदेश के बावजूद प्रधान मुख्य वन संरक्षक (पीसीसीएफ) एवं विभागाध्यक्ष पवन कुमार पद से हटाए नहीं गए हैं। आठ दिन बाद भी उन्हें पद से हटाने के आदेश वन विभाग से जारी नहीं हुए। प्रमुख सचिव वन कल्पना अवस्थी ने मुख्यमंत्री के आदेश का अनुपालन करने के बजाय फाइल पुनर्विचार के लिए विभागीय मंत्री दारा सिंह चौहान के पास भेज दी है।

मुख्यमंत्री ने प्रधान मुख्य वन संरक्षक पवन कुमार पर भ्रष्टाचार के आरोपों को देखते हुए उन्हें पद से हटाने व विस्तृत जांच कराने के निर्देश दिए थे। उन्होंने चार नवंबर को फाइल अनुमोदन कर विभाग वापस भेज दी थी। सात नवंबर को अपर मुख्य सचिव सूचना अवनीश अवस्थी ने मुख्यमंत्री द्वारा पवन कुमार को पद से हटाने की पुष्टि की।

मुख्यमंत्री के स्पष्ट आदेश के बाद भी इस फाइल को विलंब करने के लिए अफसर जानबूझकर कर इधर से उधर घुमा रहे हैं। प्रमुख सचिव वन कल्पना अवस्थी ने यह फाइल पुनर्विचार के लिए मंत्री दारा सिंह चौहान के पास भेज दी है। सूत्रों के अनुसार इसमें उन्होंने कहा है कि चूंकि सोनभद्र में जमीन आवंटन मामले की जांच अपर मुख्य सचिव रेणुका कुमार कर रही हैं, इसलिए उनकी रिपोर्ट का इंतजार कर लिया जाए। उधर, रेणुका कुमार 17 नवंबर तक अवकाश पर चली गईं हैं।

मुख्यमंत्री के आदेश के बावजूद पवन कुमार को क्यों बचाया जा रहा है इस बारे में अफसर बोलने को तैयार नहीं है। प्रमुख सचिव कल्पना अवस्थी से जब इस बारे में पक्ष जानने की कोशिश की गई तो उन्होंने मिलने से ही इनकार कर दिया।

वहीं, वन मंत्री दारा सिंह चौहान ने कहा कि प्रक्रिया चल रही है। मुख्यमंत्री के आदेश हैं उसे नकारा नहीं जा सकता। फाइल पुनर्विचार के लिए उनके पास आई या नहीं इस पर मंत्री ने स्पष्ट जवाब नहीं दिया।