आस्ताना मैनेजर ने सम्हाली सौहार्द की कमान
November 17, 2019 • बाराबंकी टाइम्स

धूमधाम से देवा में निकला झंडा जुलूस

देवा: शनिवार को देवा में बारावफात के पूर्व निकलने  वाले पारंपरिक झंडा जुलूस को निकलना था। जुलूस में दर्जनों डीजे और हजारों की भीड़ उमड़ती है। अयोध्या मुद्दे के संभावित फैसले के मद्देनजर आस्ताना मैनेजर साअद महमूद वारसी ने शनिवार को सुबह ही जुलूस से डीजे हटवा कर लोगों से शांति पूर्वक जुलूस निकालने की अपील की। उन्होंने जुलूस में किसी भी प्रकार की नारेबाजी न करने की भी सख्त हिदायत दी। आस्ताना मैनेजर ने मुस्लिम समाज के प्रबुद्ध लोगों से मिलकर उनसे जुलूस को शांति पूर्ण एवं सौहार्द के माहौल में निकालने की अपील की। उनका कहना था कि फैसला चाहे जो भी हो लेकिन सूफी की नगरी के सौहार्द को आंच नही आने दी जाएगी। 
इसके बाद मिलाद शरीफ के बाद जश्ने ईद मिलादुन्नबी का जुलूस मजार शरीफ से रवाना हुआ। आस्ताना मैनेजर और चेयरमैन साहबे आलम वारसी की अगुवाई में निकले जुलूस में सैकड़ों की संख्या में लोग शरीक हुए। जुलूस में नात पढ़ी गईं और पैगम्बर -ए -इस्लाम मोहम्मद साहब के आमद की खुशियां मनाई गईं। जुलूस नगर के विभिन्न भागों से गुजरा और शाम को मजार शरीफ पर आकर समाप्त हुआ। जुलूस में सुरक्षा के व्यापक प्रबंध रहे। वहीं रविवार को होने वाले बारावफात को लेकर मजार रोड पर सजावट का काम जोरों पर चल रहा था। 
सभासद रिजवान अहमद, अरमान वारसी सहित काफी लोग मौजूद रहे।