आम आदमी पार्टी   बहराइच 
August 27, 2020 • बाराबंकी टाइम्स अवधेश कुमार सिंह

 गोरखपुर के भाजपा विधायक राधामोहन दास अग्रवाल जी ने अपनी ही भाजपा सरकार के खिलाफ बयान देते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश मे ठाकुरो की ही सरकार चल रही है ये बात विधायक राधामोहन दास अग्रवाल जी की वायरल ऑडियो मे स्पष्ट सुनाई दे रही है जिसमें  उन्होंने पूछा  है "किस जाति के लोग छेड़छाड़ कर रहे है?"
 जब पीडि़त  ने कहा "ठाकुर परिवार के लड़के हैं तीन चार महीने से परेशान कर रहे हैं और जब उनके परिवार के लोग शिकायत करने गए तो वहां दबंग उनके साथ मारपीट करने लगे"
इस पर  उन्होंने कहा "इसमें  कुछ नहीं हो सकता क्योंकि यहां बनियों की नहीं ठाकुरो की सरकार चल रही है और उस थाने का थानाध्यक्ष भी तो ठाकुर है।"
 
ज्ञात हो कि कुछ समय पहले
जब यही बात आम आदमी पार्टी उत्तर प्रदेश के प्रभारी व राज्य सभा सांसद  श्री संजय सिंह जी ने ऐसे ही जातीय भेदभाव पूर्ण वाले गम्भीर मुद्दे को फोकस करते हुए कहा था कि "उत्तर प्रदेश में योगी जी के संरक्षण में एक जाति विशेष की सरकार चल रही है जो केवल ठाकुरो के संरक्षण का कार्य कर रही है ।अगर इस जाति का कोई व्यक्ति किसी अपराध में संलिप्त या दोषी पाया जाता है तो शासन- प्रशासन द्वारा उस पर कोई कार्रवाई नही होती है जबकि इसके विपरीत पिछड़ों,दलितों ,ब्राम्हणों आदि जातियो को बिना किसी गुनाह के भी परेशान किया जाता है ।
इन जातियों के साथ योगी सरकार पक्षपातपूर्ण व्यवहार करती है।"
माननीय संजय सिंह जी ने इसे प्रदेशवासियों के लिए बहुत 
 चिंताजनक बताया था।
 तब योगी सरकार ने आवाज़ दबाने के उद्देश्य से माननीय सासंद श्री संजय सिंह जी पर 8-10 मुकदमे लगा दिये थे जबकि आज पूरे उत्तर प्रदेश मे जाति विशेष की सरकार चलने की चर्चा और योगी सरकार की इस कार्यशैली का पुरजोर  विरोध हो रहा है।

अब महत्वपूर्ण सवाल और बिंदु यही है कि क्या योगी सरकार इस मुद्दे पर अपने विधायक राधामोहन  के खिलाफ केस दर्ज करायेगी?
दूसरा सवाल यह कि माननीय संजय सिंह जी जो राज्य सभा सांसद होने के नाते देश भर के राज्यों के ऐसे मुद्दों को उठाने का संवैधानिक अधिकार रखते हैं तो फिर आखिर योगी सरकार ने श्री संजय सिंह पर मुकदमे दर्ज क्यों करवाये? 
अतः आम आदमी पार्टी  बहराइच सहित पूरे उत्तर प्रदेश के कार्यकर्ता   योगी सरकार से ये मांग करते है की वो तत्काल प्रभाव से अपने विधायक पर केस दर्ज कराये
अन्यथा माननीय संजय सिंह पर लगाये गये मुकदमें तुरंत वापस ले।
मांगे ना माने जाने की दशा में पूरे उत्तर प्रदेश का कार्यकर्त्ता सडको पर उतरकर योगी सरकार के इस पक्षपातपूर्ण कार्य शैली के विरोध में आंदोलन करने को बाध्य होगा ।