साक्षी और अजितेश को सुरक्षा देने का निर्देश
July 16, 2019 • बाराबंकी टाइम्स

सिर्फ प्रेम विवाह है या सियासी साजिश

विसं, प्रयागराज : बरेली के बिथरी से भाजपा विधायक राजेश मिश्र उर्फ पप्पू भरतौल की बेटी साक्षी मिश्र व उसके पति अजितेश को इलाहाबाद हाईकोर्ट ने सुरक्षा देने का निर्देश दिया है। साथ ही इनके वैवाहिक जीवन में किसी के हस्तक्षेप पर रोक लगा दी है। सोमवार को सुनवाई के दौरान कोर्ट ने कहा कि याची के परिवार के लोगों को कोई हानि नहीं पहुंचाने पाए। याचियों के विवाह के मामले में कहा कि यह याचिका का नहीं, साक्ष्य का विषय है, जिसे किसी वैधानिक कार्यवाही में तय किया जा सकता है। याचीगण को दो माह के भीतर विवाह पंजीकरण कराने का आदेश दिया व कहा कि पंजीकरण न होने पर कोर्ट के संरक्षण का आदेश स्वत: समाप्त हो जाएगा।

कोर्ट ने राजेश मिश्र उर्फ पप्पू भरतौल को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। यह आदेश न्यायमूर्ति सिद्धार्थ वर्मा ने साक्षी मिश्र व अजितेश की याचिका पर दिया है। कोर्ट ने कहा कि दोनों बालिग हैं वह अपनी मर्जी से विवाह कर सकते हैं। साथ ही याची अधिवक्ता व अजितेश के परिवार को धमकी देने के मामले में पुलिस को सुरक्षा करने का निर्देश दिया।

पुलिस सुरक्षा में पहुंचे कोर्ट : सुरक्षा याचिका पर सुनवाई के लिए सोमवार सुबह साक्षी व अजितेश हाईकोर्ट में पेश हुए। दोनों पुलिस सुरक्षा में कोर्ट पहुंचे और सुरक्षा में ही बाहर निकले। कोर्ट के गेट पर मीडिया का भारी मजमा रहा लेकिन सुरक्षा के चलते उन्होंने किसी से बात नहीं की।

अजितेश से हुई मारपीट : याचिका की सुनवाई पूरी होने के बाद साक्षी व अजितेश कोर्ट से बाहर निकले तो बरामदे में उन्हें इस प्रकरण को मीडिया में फैलाने का विरोध ङोलना पड़ा। जब अजितेश ने इसका विरोध किया तो हाथापाई होने लगी। हालांकि स्थिति बिगड़ने से पहले सुरक्षा कर्मी बगल की कोर्ट में प्रवेश कराकर दोनों को सुरक्षित बाहर ले गए।जासं, बरेली : अनुसूचित जाति के युवक अजितेश से प्रेम-विवाह रचाने पर साक्षी के पिता विधायक राजेश मिश्र उर्फ पप्पू भरतौल पहले ही कह चुके थे कि पूरे प्रकरण के पीछे राजनीतिक साजिश है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी मामले का संज्ञान लिया। पूरे दिन चर्चा रही कि उन्होंने प्रमुख सचिव से पूरे प्रकरण की रिपोर्ट तलब की है। ऐसा होने पर बरेली प्रशासन को रिपोर्ट बनाकर भेजनी होगी। हालांकि स्थानीय अधिकारी इस पर कुछ भी बोलने से बच रहे। सूत्रों की मानें तो मुख्यमंत्री ने पूछा है कि यह सिर्फ प्रेमविवाह है, या फिर सियासी साजिश तो नहीं। इस मामले की रिपोर्ट भेजने से पहले अफसर बिथरी विधायक राजेश मिश्र उर्फ विधायक पप्पू भरतौल का पक्ष भी जानेंगे।प्रयागराज के बमरौली एयरपोर्ट पर बैठे अजितेश व साक्षी' (वीडियो ग्रैब से)

क्या है मामलाबरेली विधायक राजेश मिश्र की बेटी साक्षी ने दलित लड़के अजितेश के साथ शादी की। अपने पिता राजेश मिश्र और उनके दोस्त राजीव राणा से जान को खतरा बताया। इसी मामले पर हाईकोर्ट में सुनवाई हुई।

' मुख्यमंत्री ने मांगी रिपोर्ट, दिन भर रही चर्चा