वृद्ध की मौत पर परिजनों का अस्पताल में हंगामा
August 4, 2019 • बाराबंकी टाइम्स

डॉक्टरों पर इलाज में लापरवाही का लगाया आरोप

संवादसूत्र, बाराबंकी: जिला चिकित्सालय में शुक्रवार की रात एक वृद्ध मरीज को भर्ती कराया गया। जहां उसकी हालत में सुधार न होने पर लखनऊ ट्रामा सेंटर रेफर किया गया। परिवारजन जबतक कुछ समझ पाते तब-तक बीमार वृद्ध की मौत हो गई। नाराज परिवारजन ने जिला चिकित्सालय में शनिवार की सुबह अस्पताल प्रशासन पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए विरोध प्रदर्शन किया। पुलिस के पहुंचने के बाद मामला शांत हो सका। वृद्ध के शव को पोस्टमार्टम कराया गया है।

कोठी थाना क्षेत्र के पूरे सूबेदार निवासी बाबादीन 65 को सांस फूलने व तेज बुखार के कारण परिवारजन जिला चिकित्सालय में भर्ती कराए थे। यहां रात में सवा दस बजे बाबादीन की हालत बिगड़ने पर चिकित्सकों ने ट्रामा सेंटर लखनऊ के लिए रेफर कर दिया। परिवारजन मरीज को लखनऊ नही ले गए। सुबह करीब आठ बजकर पांच मिनट पर उसकी मौत हो गई। मौत से नाराज परिवारजन ने अस्पताल में तैनात स्टाफ नर्स, फार्मासिस्ट व चिकित्सक पर लापरवाही का आरोप लगाते हुए हंगामा किया। परिवारजन के हंगामे के चलते स्टाफ नर्स ने थोड़ी देर के लिए काम भी ठप कर दिया।

सूचना पर पहुंची पुलिस ने परिवारजन को समझाबुझा कर मामला शांत कराया। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। जिला चिकित्सालय के सीएमएस डॉ. एसके सिंह का कहना है कि रात में गंभीर हालत में बाबादीन को उनके परिवारजन चिकित्सालय की इमरजेंसी में भर्ती कराए थे। उन्हें बुखार व कमजोरी के अलावा उनकी सांस फूल रही थी।

इमरजेंसी में तैनात डॉ. राजेश कुशवाहा ने मरीज का इलाज किया। गंभीर हालत देखते हुए उन्होंने लखनऊ ट्रामा सेंटर के लिए रेफर किया था। मरीज को परिवारजन लखनऊ नहीं ले गए। सुबह इलाज के दौरान मौत हो गई। कोई लापरवाही नहीं बरती गई है।

जिला अस्पताल में मरीज की मौत के बाद हंगामा कर रहे परिवारजन से बात करते पुलिसकर्मी ' जागरण

बुखार से पीड़ित बच्ची जिला अस्पताल रेफर

संसू, रानीबाजार : मसौली क्षेत्र में कई दिनों से बुखार से पीड़ित सात वर्षीय बच्ची को सीएचसी बड़ागांव में भर्ती कराया गया। जहां से चिकित्सक ने जिला अस्पताल रेफर कर दिया। मसौली थाना क्षेत्र के कपरियन पुरवा निवासी कुसुम पुत्री स्व. परस (7) पिछले कई दिनों से बुखार से पीड़ित थी। इसका इलाज स्थानीय झोलाछाप से किया जा रहा था। लेकिन हालत में सुधार न होने के कारण पीड़ित की मां बेग पति ने शनिवार को सीएचसी बड़ागांव में भर्ती कराया, जहां से गंभीर हालत को देखते हुए जिला अस्पताल रेफर कर दिया।