लड़का पीछा करे तो भागो नहीं, पत्थर उठाओ..आंख दिखाओ’ खास बातें
August 31, 2019 • बाराबंकी टाइम्स

जागरण संवाददाता, बाराबंकी : जिले में शिक्षा, स्वास्थ्य व सुरक्षा महकमे का हाल देखने पहुंचीं राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने शुक्रवार को बालिकाओं को निडर बनने की प्रेरणा दी। दो टूक यह कहा कि अगर कोई लड़का तुम्हारा पीछा करे तो भागो नहीं, पत्थर उठाओ..आंख दिखाओ.. वह खुद ही भाग जाएगा। उन्होंने अधिकारियों व स्वयंसेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों से समाज को सुंदर, स्वस्थ व स्वच्छ बनाने के लिए मिलजुल कर कार्य करने की अपील की।

अपने दूसरे दौरे पर बाराबंकी पहुंचीं राज्यपाल ने जनता से सीधे जुड़ने का प्रयास किया। खासतौर से जनसुविधाओं की हकीकत परखी। पूर्व माध्यमिक विद्यालय नेवला करसंडा में छात्र-छात्रओं को मन लगाकर पढ़ने और शिक्षकों को पूरे मनोयोग से पढ़ाने की सलाह दी। उन्होंने मिड-डे मील के लिए पक रही तहरी को भी कलछुल से चलाकर देखा। मसौली थाने पहुंचकर जीजीआइसी बाराबंकी और कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय मसौली की छात्रओं से रूबरू हुईं। पुलिस का डर बच्चों के मन से दूर करने लिए थानों का भ्रमण कराने का सुझाव डीआइओएस राजेश कुमार व बीएसए बीपी सिंह को दिया।

बेटियों ने कही मन की बात : राज्यपाल ने बेटियों के मन की बात भी जानी। शिक्षकों से महिला पुलिस कर्मियों को स्कूलों में आमंत्रित करने को कहा, ताकि छात्रओं का हौसला बढ़ सके। इस दौरान जीआइसी की छात्र वर्षा चंद्रा ने बेटी पढ़ाओ-बेटी बचाओ गीत सुनाया। केजीबीवी की छात्रओं ने भी बालिका शिक्षा पर समूहगान पेश किया। छात्र नंदिता गुप्ता और वर्षा ने पुलिस में भर्ती होने की इच्छा जताई। एसपी आकाश तोमर ने छात्रओं को बताया कि उनकी शिक्षा सरकारी स्कूल में ही शुरू हुई है। पिता शिक्षक थे। राज्यपाल ने बच्चों को फल भी बंटवाए।

माहौल अच्छा दिखाने की कोशिश : सीएचसी बड़ागांव में राज्यपाल के आगमन की जानकारी पहले से होने पर यहां सबकुछ दुरुस्त मिला। करीब आधा घंटा तक निरीक्षण चला। इस दौरान अंदर के मरीज अंदर और बाहर के बाहर रहे। राज्यपाल ने बड़ागांव के आंगनबाड़ी केंद्र पर गर्भवती महिलाओं की गोदभराई की। परिसर में सहजन का पौधा भी रोपा।