नैमिषारण्य-अयोध्या के लिए अलग विकास बोर्ड
August 11, 2019 • बाराबंकी टाइम्स

राज्य ब्यूरो, लखनऊ : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सरकार धार्मिक पर्यटन स्थलों के समग्र विकास के लिए ब्रज विकास बोर्ड की तर्ज पर अयोध्या, ¨वध्यवासिनी धाम, शुकतीर्थ, चित्रकूट, नैमिषारण्य व देवीपाटन के लिए अलग विकास बोर्ड बनाने जा रही है। सरकार विभिन्न सांस्कृतिक पर्यटन सर्किट जैसे रामायण सर्किट, कृष्ण सर्किट, बुद्ध सर्किट आदि का विकास करके इनकी अवस्थापना सुविधाएं और बेहतर करेगी। पर्यटकों की सुविधा के लिए मथुरा, वृंदावन, अयोध्या, प्रयागराज, विंध्याचल, नैमिषारण्य, चित्रकूट, कुशीनगर और वाराणसी में पर्यटन सुविधाओं का विकास किया जा रहा है।

योगी ने पर्यटन विभाग द्वारा आयोजित दो दिवसीय 'उत्तर प्रदेश ट्रैवल मार्ट-2019' के उद्घाटन अवसर पर कहा कि प्रदेश में पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं। इसके लिए बेहतर अवस्थापना सुविधाओं और संपर्क मार्गो का विकास हो रहा है। यहां बड़ी संख्या में मौजूद बौद्ध धर्म स्थलों का विकास किया जा रहा है। प्रदेश में एयर कनेक्टिविटी बढ़ाई जा रही है। जेवर इंटरनेशनल एयरपोर्ट के साथ ही 11 नए एयरपोर्ट पर काम चल रहा है। पर्यटन के माध्यम से आर्थिक गतिविधियां तेज होती हैं, जो रोजगार देने में मददगार साबित होती हैं।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में प्राकृतिक, ऐतिहासिक, धार्मिक व सांस्कृतिक महत्व के अनेक पर्यटन स्थल हैं। यहां वन्य जीव अभ्यारण्य भी हैं। बुंदेलखंड क्षेत्र में भी पर्यटन की असीम संभावनाएं हैं। सरकार ने पर्यटन के विकास के लिए कई योजनाएं बनाई हैं। सरकार एक्सप्रेसवेज को बढ़ावा दे रही है। पूर्वाचल एक्सप्रेस-वे अगस्त 2020 में शुरू हो जाएगा। साथ ही प्रत्येक जिले को फोर-लेन सड़क से जोड़ा जा रहा है। संबंधित खबर 12

 

 

लखनऊ में शनिवार को ट्रैवल मार्ट-2019 में बोलते मुख्यमंत्री ' जागरण

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने किया यूपी टैवल मार्ट 2019 का उद्घाटन, धार्मिक स्थलों के विकास के लिए कीं घोषणाएं

उत्तर प्रदेश में पर्यटन की अपार संभावनाएं हैं। पर्यटन के माध्यम से आर्थिक गतिविधियां तेज होती हैं, जो रोजगार देने में मददगार साबित होती हैं।

 

योगी आदित्यनाथ, मुख्यमंत्री