नशे में बस चलाई तो चली जाएगी नौकरी
July 22, 2019 • बाराबंकी टाइम्स

राज्य ब्यूरो, लखनऊ : यात्रियों के सुरक्षित सफर के लिए हो रहे जतन की दिशा में परिवहन निगम ने एक और कदम बढ़ाया है। व्यवस्था बनाई जा रही है कि यदि अब किसी चालक ने नशे में बस चलाई तो उसकी नौकरी चली जाएगी। ब्रीथ एनलाइजर से चालक की जांच बस अड्डे से बस निकलने, वापस आने और बीच में रूट पर भी की जाएगी।

यमुना एक्सप्रेस-वे बस हादसे के बाद से परिवहन निगम लगातार व्यवस्था दुरुस्त करने का प्रयास कर रहा है। प्रबंध निदेशक डॉ. राज शेखर ने ब्रीथ एनालाइजर से चालकों की जांच शुरू करा दी है। फिलहाल विभाग के पास प्रमुख क्षेत्रों और रूट चेकिंग स्क्वॉयड के पास 36 ब्रीथ एनालाइजर हैं। प्रबंध निदेशक ने बताया कि जरूरत को देखते हुए 250 उपकरणों की खरीद के लिए प्रति नग 25 हजार रुपये का बजट स्वीकृत कर दिया गया है।

दो हफ्तों में खरीद पूरी होने के बाद लंबी दूरी की बसों के चालकों की तीन चरणों में चेकिंग शुरू हो जाएगी। डिपो से बसों के निकलने के वक्त, रास्ते में एक जगह और बस स्टेशन पहुंचने पर भी जांच होगी। उन्होंने बताया कि निगम का चालक नशे में पाया गया तो उसे निलंबित किया जाएगा और संविदा चालक को तुरंत बर्खास्त कर दिया जाएगा।