जंगल में बेहोश मिली लापता छात्र
September 20, 2019 • बाराबंकी टाइम्स

अपहृत किशोरियों को तलाश नहीं सकी दरियाबाद पुलिस !

वादसूत्र, बरेठी (बाराबंकी): लखनऊ से लापता इंटर की छात्र देवा थाना क्षेत्र में स्थित जंगल में अचेत अवस्था में पड़ी मिली है। शिनाख्त के बाद बुलाए गए परिवारजन ने छात्र को मानसिक रूप से बीमार बताया है। प्राथमिक उपचार के बाद पुलिस ने छात्र को परिवारजन के सिपुर्द कर दिया है।

देवा थाना क्षेत्र में चिनहट रोड पर स्थित उमरी जंगल में गुरुवार को एक छात्र अचेत अवस्था में पड़ी मिली और उसकी स्कूटी सड़क पर खड़ी थी। राहगीरों ने जाकर देखा तो सड़क से करीब दस मीटर अंदर पड़ी थी। पीआरवी की पूछताछ में छात्र ने बताया कि वह लखनऊ के कृष्णा नगर थाना क्षेत्र निवासी है।

शिनाख्त के बाद उसे सीएचसी देवा में भर्ती कराया गया। एसओ देवा पीके सिंह ने उसके पिता का नंबर पूछकर उन्हें सूचना दी। देवा पहुंचे छात्र के पिता ने बताया कि उनकी पुत्री इंटर की छात्र है जो बुधवार को स्कूल से वापसी के लिए निकली थी, लेकिन घर नहीं पहुंची। उसके लापता होने की सूचना कृष्णा नगर थाने में दर्ज कराई गई थी।

एसओ ने बताया कि पूछताछ में छात्र ने बताया कि उससे तालकटोरा में एक महिला ने लिफ्ट ली थी। जिसने उसे बेहोशी की दवा सुंघा दी थी। पिता ने पुलिस को बताया कि पुत्री मानसिक मंदित है और पहले भी उसके साथ ऐसा हो चुका है। पुलिस ने छात्र का मेडिकल कराया, जिसे कोई जाहिरा चोट नहीं है। जांच-पड़ताल की जा रही है।

 

संवादसूत्र, दरियाबाद (बाराबंकी): पुलिस अपहृत किशोरियों को बरामद करने में नाकाम दिख रही है। कई किशोरी के सुराग तक लगाने में पुलिस कामयाब नहीं हो पाई है। लापता किशोरी के परिवारजन थाने से लेकर अफसरों के चौखट नाप थक चुके हैं। लेकिन अब तक कोई हल नहीं निकल सका है। हालांकि, पुलिस छानबीन जारी रहने के दावे कर रही है। बावजूद इसके परिणाम शून्य नजर आ रहा है। लापता किशोरियों के परिवारजन की उम्मीद टूटती जा रही है। एसएचओ शिवाजी सिंह बताते हैं कि छानबीन जारी है। जल्द बरामदगी कर ली जाएगी।

 

केस: 1- थाना क्षेत्र की 17 वर्षीय किशोरी को अपहृत कर ले जाने का आरोप गांव के एक युवक पर है। आरोप है कि किशोरी को बहला फुसलाकर बाइक से लेकर भागा। इसका पीछा लोगों ने गाजीपुर तक किया। आरोपी भागने में सफल रहा। पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है।

केस: 2- थाने के एक गांव निवासी किशोरी को करीब एक माह पूर्व गांव का ही युवक लेकर चला गया। परिवारजन खोजबीन करते रहे, लेकिन कुछ पता नहीं चला। किशोरी को ले जाने वाले युवक के विरुद्ध परिवारजन ने मुकदमा दर्ज कराया। उधर, हंिदूू संगठनों ने बरामदगी की मांग भी की, लेकिन अब तक पुलिस युवती व आरोपित किसी का भी पता नहीं लगा सकी है।