एटीएम से छेड़छाड़, रुपये निकालने वाले दो बंदी
October 1, 2019 • बाराबंकी टाइम्स

संवादसूत्र, बाराबंकी : एटीएम में छेड़छाड़ कर ग्राहकों के रुपये निकालने वाले गिरोह का कोतवाली पुलिस ने राजफाश किया है। पकड़े गए दोनों आरोपित जीजा-साले हैं। इनमें से एक बहराइच और दूसरा बलरामपुर जिले के निवासी हैं। बलरामपुर निवासी साला बलरामपुर संयुक्त जिला अस्पताल में बतौर आयुष्मान मित्र के पद पर कार्यरत है।

कोतवाली नगर क्षेत्र के देवा तिराहे के निकट स्थित पंजाब एंड सिंध बैंक के एटीएम में चार जून को दो युवक घुसे थे। जिन्होंने एटीएम से रुपये निकलने वाले स्थान पर बिजली का तार हुक बनाकर अंदर फिट कर दिया और बाहर से नकली डिवाइस लगाकर चले गए। उनके बाद आए एक ग्राहक ने एटीएम से दस हजार रुपये निकाले जो बाहर न निकल कर अंदर तार में फंस गए और खाते से दस हजार रुपये कट गए। प्रकरण में शाखा प्रबंधक अमित श्रीवास्तव ने दो अज्ञात लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। कोतवाली पुलिस ने राजफाश करते हुए अयोध्या हाईवे पर दो आरोपितों को गिरफ्तार किया है। इसमें बहराइच जिले के पयागपुर थाना क्षेत्र के ग्राम फरदा सुमेरपुर निवासी आशुतोष सिंह और उसके सगे साले राहुल सिंह निवासी ग्राम बिजलीपुर थाना कोतवाली नगर जिला बलरामपुर शामिल हैं। इनके पास से पुलिस ने 1900 रुपये और मोबाइल बरामद किया है।

पकड़े गए आरोपितों की जानकारी देते एएसपी आरएस गौतम 'जागरण

ऐसे पकड़ में आया गिरोहआशुतोष सिंह ने अपने साले राहुल के पते पर बैंक का खाता खुलवाया था। उस दिन आशुतोष ने एटीएम में अपना एटीएम कार्ड प्रयोग किया था। इसकी मदद से पुलिस ने आशुतोष का पता खोज निकाला। एएसपी आरएस गौतम ने बताया कि जांच में पता चला कि इन दो के अलावा सुभाष भी इस गिरोह का सदस्य है, जो कि बहराइच जेल में बंद है। विवेचक ईश नारायण मिश्र ने बताया कि गिरोह से जुड़े लोग पहले अपने एटीएम से दो अथवा पांच सौ रुपये निकालते हैं और मशीन का मुंह खुलते ही तार का हुक लगा देते हैं। चार जून को लगातार एटीएम न चलने की शिकायत पर प्रबंधक अमित श्रीवास्तव ने मशीन चेक कराई तो मामला पता चला। सीसी फुटेज खंगालने पर पता चला चार जून को दिन में 12:16 बजे बदमाश एटीएम में घुसे थे।