आतंकवाद से मिलकर लड़ेंगे श्रीलंका पहुंचे प्रधानमंत्री ने कहा आतंकवाद से भारत-श्रीलंका दोनों को खतरा
June 10, 2019 • बाराबंकी टाइम्स

कोलंबो, प्रेट्र/एएनआइ : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि आतंकवाद भारत व श्रीलंका दोनों देशों के लिए खतरा है और दोनों ही देश इससे मिलकर लड़ेगे। श्रीलंका की एक दिन की यात्र पर रविवार को यहां पहुंचे प्रधानमंत्री मोदी ने श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाल सिरिसेन समेत प्रमुख नेताओं से मुलाकात की। श्रीलंका में अप्रैल में ईस्टर के दिन हुए बड़े आतंकी हमले के बाद श्रीलंका की यात्र करने वाले मोदी पहले विदेशी नेता हैं। इन हमलों में 11 भारतीयों समेत 250 से ज्यादा लोग मारे गए थे।

राष्ट्रपति सिरिसेन से मुलाकात के बाद मोदी ने ट्वीट किया, '10 दिनों में राष्ट्रपति मैत्रीपाल से हमारी दूसरी मुलाकात है। राष्ट्रपति सिरिसेन और मैं इस बात पर सहमत थे कि आतंकवाद संयुक्त खतरा है और इसके खिलाफ सामूहिक और स्पष्ट कार्रवाई की जरूरत है। इस मुलाकात के दौरान साझा, सुरक्षित और समृद्ध भविष्य के लिए श्रीलंका के साथ भागीदारी की भारत की प्रतिबद्धता को दोहराया गया।' विदेश मंत्रलय के प्रवक्ता रवीश कुमार ने ट्वीट किया कि दोनों नेताओं ने पारस्परिक हित के द्विपक्षीय मुद्दों पर चर्चा की। राष्ट्रपति सिरिसेन ने प्रधानमंत्री के सम्मान में भोज का आयोजन किया। उन्होंने मोदी को भगवान बुद्ध की समाधि मूर्ति की प्रतिकृति भी विशेष उपहार के रूप में दी। इसके बाद मोदी ने श्रीलंका के राष्ट्रपति भवन में अशोक का एक पौधा रोपा।

 

 

नई दिल्ली, प्रेट्र : भारत ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के किर्गिस्तान दौरे के लिए पाकिस्तान से हवाई क्षेत्र खोलने का अनुरोध किया है। मोदी 13-14 जून को शंघाई को-ऑपरेशन ऑर्गनाइजेशन (एससीओ) की शीर्ष बैठक में हिस्सा लेने किर्गिस्तान की राजधानी बिश्केक जाएंगे।

26 फरवरी को बालाकोट में भारतीय वायुसेना की एयर स्ट्राइक के बाद पाकिस्तान ने अपनी हवाई सीमा को बंद कर दिया था। इसके बाद से अब तक कुल 11 में से केवल दो रूट ही खोले गए हैं, जो दक्षिणी पाकिस्तान से होकर जाते हैं। भारत सरकार के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, 'पाकिस्तान से अनुरोध किया गया है कि प्रधानमंत्री मोदी के विमान को अपनी हवाई सीमा से उड़ान की अनुमति देते हुए बंद चल रहा एक रूट खोल दे।'

मोदी की किर्गिस्तान यात्र के लिए पाक हवाई क्षेत्र खोले

'>>ईस्टर के दिन आत्मघाती हमले का शिकार बने चर्च भी गए पीएम मोदी

>>राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और विपक्ष के नेता से द्विपक्षीय मुद्दों पर की बात

श्रीलंकाई राष्ट्रपति बोले, नहीं पैदा होने देंगे 'मुस्लिम प्रभाकरण'कोलंबो, प्रेट्र : श्रीलंका के राष्ट्रपति मैत्रीपाल सिरिसेन ने ईस्टर के दिन हुए आतंकी हमले का जिक्र करते हुए कहा है कि उनका देश 'मुिस्लम प्रभाकरण' को नहीं पैदा होने देगा। उन्होंने देश के सभी समुदायों के बीच एकता पर बल दिया।

भारतीय समुदाय को संबोधित कियाप्रधानमंत्री मोदी ने कोलंबो स्थित इंडिया हाउस में भारतीय समुदाय के लोगों को संबोधित किया। उन्होंने कहा कि आज दुनिया में भारत की स्थिति मजबूत हो रही है और इसमें प्रवासी भारतीयों का बड़ा योगदान है। प्रधानमंत्री ने कहा, 'मैं जहां भी जाता हूं, मुङो भारतीय प्रवासियों की सफलता और उपलब्धियों के बारे में बताया जाता है।'

मोदी जिस समय श्रीलंका में थे उस समय बारिश हो रही थी। श्रीलंका के राष्ट्रपति ने खुद छाता लगाकर चल रहे थे ' रायटर