अवैध खनन से कमजोर हो रहा घाघरा का रिंग बांध
June 18, 2019 • बाराबंकी टाइम्स

संवादसूत्र, टिकैतनगर (बाराबंकी) : घाघरा नदी में अवैध बालू खनन का कारोबार तेजी से हो रहा है। गांवों में हो रहे बालू खनन में सरकारी तंत्र अंकुश लगाने में नाकाम है। खनन से होने घाघरा का रिंग बांध कमजोर होता जा रहा है। वहीं तराई क्षेत्र की सड़कें भी क्षतिग्रस्त होती जा रही हैं।

सनावा, तेलवारी व कोठरी गौरिया मे डेंजर जोन होने के बाद भी यहां पर बालू का खनन तेजी से हो रहा है। खनन होने से जहां नदियों के अस्तित्व पर संकट गहराता जा रहा है। वहीं, बाढ़ का खतरा भी बढ़ता जा रहा है। इसमें स्थानीय पुलिस की मिलीभगत भी है। यही वजह है कि खनन माफिया पर कार्रवाई करने से अफसर भी कतरा रहे हैं। खनन से तटबंध भी अछूते नहीं है। वह पूरी तरह से क्षातिग्रस्त हो चुके हैं। थाना टिकैतनगर क्षेत्र के तहसील रामसनेहीघाट के अंर्तगत सेमरी व बेलखरा ,खेता सराय में भी रोजाना अवैध बालू का खनन किया जा रहा है। एसडीएम रामसनेहीघाट राजीव शुक्ला का कहना है कि खनन हो रहा है, मामला संज्ञान में आया है, टिकैतनगर प्रभारी निरीक्षक को खनन माफिया पर कार्रवाई के लिए आदेशित किया गया है।